Linux Kya Hai? यहाँ जानने को मिलेगा आपको Linux का पूरा इतिहास हिंदी में!

Linux Kya Hai? यहाँ जानने को मिलेगा आपको Linux का पूरा इतिहास हिंदी में!

Computer Linux Tech Technology


आप शायद ही जानते हो की जिस Phone और Computer का आप Use कर रहे है उसमें Linux है और सिर्फ Phone व Computer में ही नहीं बल्कि Linux Software आपकी Car से लेकर Home Equipment तक में भी पाया जाता है। यहाँ तक की यह आपको हर जगह मिल जाएगा। Internet में इसका ज्यादातर Use किया जाता है।

तो आखिर यह Linux Kya Hai?… इसका क्या Use होता है?… जानते है आगे।

Linux Kya Hai (What Is Linux In Hindi)

Linux Ke Bare Me पूरी तरह से जानकारी प्राप्त करने से पहले हम यह जान लेते है की Linux होता क्या है।

Linux Windows की तरह ही एक Operating System है Linux Computer को ठीक से चलाने में मदद करता है यह एक Open Source Software है इसे आप बिल्कुल Free में इस्तेमाल कर सकते है Internet पर इसकी Source Code भी Free Available है।

LINUX-LOGO

Linux को आमतौर पर सभी Devices में इस्तेमाल किया जा रहा है। साथ ही ये पूरे Internet Server में भी उपयोग में लाए जा रहे है और पूरी तरह से सुरक्षित और Error Free होने के कारण Linux का बहुत अधिक इस्तेमाल हो रहा है।

Linux के कई तरह के Distribution Market में उपलब्ध है। इन्हे Short में Distro भी कहा जाता है, लेकिन इसमें सबसे Popular Distro Ubuntu है। यह सरल और अच्छा Distro है। जो की बिल्कुल Free में उपलब्ध है। इसे आप इसकी Official Site से Download कर सकते है।

Linux Open Source होने के कारण इसका Source Code सभी के लिए Open रहता है इसे कोई भी अपने हिसाब से बदल सकता है। दुनिया में जितने भी Open Source Software है उन्हें Developer अपने हिसाब से Modify करते रहते है।

दोस्तों ऐसे बहुत से लोग है जो ये सोचते है की हर चीज का कोई न कोई Full Form तो होता है, वैसे ही Linux Full Form भी होगा, लेकिन हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की Linux का कोई Full Form नहीं होता है, लिनक्स एक प्रकार का Open Source Software है।

लिनक्स की परिभाषा तो आपको समझ आ गई लेकिन इसका इतिहास क्या रहा है ?… Linux Ke Janmdata कौन है ?… यह शायद ही कोई जानता होगा।

तो चलिए जानते है…

History Of Linux In Hindi (Linux Ki Sanrachna)

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की परिभाषा में आपको Linux के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला। अब आगे हम इसके इतिहास के बारे में बात करेंगे की कैसे इसकी शुरुआत की गई।

linux history 2

Linux का आज सभी Use करते है लेकिन क्या आप जानते है Linux की History क्या है? Linux Ki Khoj Kisne Ki?…

Linux Operating System को Linux Torvalds ने बनाया था। लिनक्स की खोज 1991 में हुई थी तभी से लिनक्स की शुरुआत हुई। उस समय में प्रत्येक Computer के लिए अलग – अलग Operating System होते थे, यदि एक Software एक Computer के लिए होता है तो वह दूसरे Computer पर काम नहीं कर सकता है।

यह कार्य User और System Administrator दोनों के लिए ही Difficult था, तब वैज्ञानिको ने इस समस्या को हल करने के लिए कार्य करना शुरू कर दिया और उन्होंने नए Operating System बनाये।

Linux एक तरह से Unix का Model है। Unix एक Single User Operating System था। उसकी विशेषताओं को जानने के बाद Linux Torvalds ने अपना स्वयं का Operating System बनाया जिसे Linux के नाम से जाना गया।

Linux Torvalds ने Linux Kernel का Source Code लिखा और उसे Internet पर रख दिया, इसलिए इसे Open Source Code कहा जाता है क्योंकि इसमें व्यक्ति Source Code बदलकर नए Code लिख कर Linux Code में Include कर सकते है।

लिनक्स का इतिहास जानने के बाद अब हम जानेंगे…

Features Of Linux In Hindi

लिनक्स की विशेषता

Linux Operating System इसके Features के कारण ही ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। तो क्या आप जानना चाहेंगे Linux Ki Visheshta यानि की Features क्या है।

तो जानते है लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता

Portable : Portablity से मतलब है, कि यह किसी विशेष Computer Hardware से ही संबंधित नहीं है बल्कि यह किसी भी प्रकार के Computer पर चलाया जा सकता है। सभी Hardware Platform, Linux Kernel और Application Programs को Support करते है। जिसे किसी भी तरह से चलाया जा सकता है।

linux portability

Open Source : Linux एक Open Source Code है जो Internet पर Freely Available है इसे कोई भी अपनी आवश्यकता अनुसार बदल सकता है और अपना नया Code उसमे Include कर सकता है।

open source

Multi User : Linux Key Features में यह सबसे Best Feature है। Linux एक Multi-user System है। Multi-user एक ही समय में इसके सभी System Resources को इस्तेमाल कर सकते है।

linux multiuser

Network Information Service : Linux विशेष रूप से Networking के कार्य करने के लिए बनाया गया है। जब कई सारे Computer को जोड़ कर एक जाल रूपी संरचना बनाई जाती है जिसे Networking कहते है। Linux के द्वारा हम Password Share कर सकते है और Files को समूह में बाँट कर Network पर उपयोग में ला सकते है।

Network Information Service

Security Features : Linux User को बहुत सारे अच्छे Security Features भी प्रदान करता है जैसे- Password Protection,Specific Files, Data Encryption आदि।

Security Features

Virtual Memory : यदि हम किसी Program को Run करते है तो कुछ Physical Memory की आवश्यकता होती है जिसे हम Hard Disk में रखते है ताकि आवश्यकता पड़ने पर उपयोग में लाया जा सके।

Virtual Memory

यह थी Linux Ki Visheshtaye जो Users को मिलती है।

तो दोस्तों आपको भी यह Features पसंद आए हो तो आप इस Operating System Linux का इस्तेमाल कर सकते है।

चलिए अब हम जानेंगे की इससे Users को क्या फ़ायदे होते है।

Linux Ke Fayde (Pros)

दोस्तों ऊपर आपने Linux के Features के बारे में जाना जो आपको पसंद भी आए होंगे अब हम लिनक्स के लाभ जानेंगे।

linux pros 1

  • Linux एक ऐसा Operating System है जो आपके लिए Internet पर बिलकुल Free में उपलब्ध है। आप Free में Linux Download कर सकते है, जबकि दूसरे Operating System को खरीदने के लिए आपको हजारों रूपए खर्च करने पड़ते है।
  • Linux एक Open Source Operating System है। जिसका Code Internet पर Free में Available है। जिसे आप अपनी आवश्यकता अनुसार Modify भी कर सकते है।
  • Linux Users की बड़ी संख्या को एक साथ Manage कर सकता है और Linux की Performance Workstation तथा Networking में High Level की होती है।
  • यह Multi-user Operating System है बहुत सारे User इसका प्रयोग कर सकते है।
  • Linux पर कई User एक साथ काम कर सकते है और कई Application को एक साथ Run करवा सकते है। जो Application Unix में Run होती है वही Application Linux में भी Run होती है। इसका मतलब यह है कि Linux और Unix एक-दूसरे के Compatible होते है।
  • Linux सुरक्षा की अच्छी सुविधा उपलब्ध कराता है जैसे Password Protection या Encryption Features को उपयोग करने वाला व्यक्ति ही उसमे Changes कर सकता है कोई और व्यक्ति उसमे कोई Changes नहीं कर सकता है।
  • लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम Virus से पूरी तरह से Safe है। जबकि दूसरे Window पर काम करने के लिए हमे Anti-virus की जरूरत होती है। क्योंकि इसमें Virus बहुत जल्दी आ जाते है। Linux में ऐसा नहीं होता है क्योंकि Linux का प्रयोग करने वाला इसके मुख्य भाग Kernel तक नहीं जा सकता है।

तो अगर आप Linux का Use करते है तो आपको इससे इतने तरह के फ़ायदे मिलेंगे।

Linux Ke Prakar (Types Of Linux)

लिनक्स के प्रकार

Linux के कुछ प्रकार भी होते है जो आपको आगे बताए जा रहे है। वैसे तो Linux के बहुत से प्रकार है लेकिन हम आपको कुछ मुख्य Linux Ke Ghatak के बारे में बता रहे है।

linux type

Ubuntu : यह Debian Based Linux है। इसे 2004 में Announce किया गया था। South Africa के करोड़पति Mark Shuttleworth द्वारा Found किये गए Canonical, कई सालों तक Ubuntu Cds को Free में उन Users को भेजती रही जो Ubuntu में Interest रखते थे।

Redhat : अधिकांश लोग जिन्होंने कुछ साल पहले Redhat के साथ Linux का Use करना शुरू किया और Redhat के Commercial होने पर अन्य Distribution जैसे- Fedora में Move हो गए।

Sabayon/ Gentoo : Italian  Sabayon, Gentoo का ही एक Lived Version है जो Users को हर एक Component को Individually Optimize करने के लिए Allow करता है। इन दोनों को ही Experienced Users के उद्देश्य से Advanced Linux Distributions माना जाता है। Italian Sabayon Gentoo

Centos : सबसे ज्यादा Popular Linux Centos ही है। जिसे Use करना बहुत Easy है और एक Cd को Boot करके व Easy Instructions को Follow करके Server Set किया जा सकता है। Centos उन सभी Hardware Drivers को Manage करता है जिन्हें Business Programs को Execute करने की जरुरत होती है।

तो यह थे Linux के मुख्य प्रकार आप इनमें से कोई सा भी Linux Os Download कर सकते है।

दोस्तों क्या आपने कभी Linux Kernel का नाम सुना है।

Linux Kernel Kya Hai

Linux Kernel एक ऐसा Operating System Program है जो Computer Resources को Control करके उसका सही इस्तेमाल User से करवाता है। किसी भी Operating System को बनाते समय सबसे पहले उसका Kernel ही बनाया जाता है। यह Operating System का सबसे Lower Part होता है।

linux-kernel

Computer को Start करने पर सबसे पहले Kernel ही Memory में Load होता है और उसके बाद Kernel बाकी सभी System को Load करता है। लिनक्स कर्नेल Computer के Hard Ware से Direct Communicate होता है। हमारे Software तभी काम कर पाते है जब Hardware से Directly या Indirectly Communicate हो।

Linux Basic Commands (Linux Ki Commands)

लिनक्स के कमांड

यदि आप Linux का पहली बार इस्तेमाल कर रहे है तो आपको Linux Commands के बारे में पता होना चाहिए। जिससे की आपको Linux का Use करने में आसानी होगी।

Basic Linux Commands

  • Is Command : यह Current Directory Content की List देखने के लिए Use की जाती है।
  • d Command : इस Command के द्वारा Current Directory को Change किया जा सकता है।
  • Cat Command : किसी File को Read करने और New File Create करने के लिए इस Command का Use किया जाता है।
  • Mv Command : File को एक Directory से दूसरी Directory में Moov करने पर इस Command का इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही File का नाम Change करने के लिए भी इस Command का Use किया जा सकता है।
  • Touch Command : Empty File को Create करने के लिए इस Command का Use किया जाता है। और आप उस File की Last Date और Time भी Change कर सकते है।
  • Ipr : इससे आप किसी भी File और Directory को Print कर सकते है।
  • Less : File Content को Page By Page देखने के लिए इस कमांड का Use किया जाता है।
  • Tar : इससे किसी भी File को Compress, Create और Extract किया जा सकता है।
  • Su : User Switch करने के लिए यह Command Use की जाती है।
  • Unzip : Zip File को Unzip करने के लिए यह Command Use की जाती है।

तो यह थी Linux K Command जो आपने जानी जिससे आपको Linux का Use करने में मदद मिलेगी।

Linux File System In Hindi

लिनक्स फाइल सिस्टम

क्या आप जानते है Linux File System क्या है? तो अगर आप नहीं जानते है तो इसके बारे में ज़रुर जान लीजिये की यह क्या होता है।

Linux File System, Operating System में एक Layer की तरह काम करती है और Without Storage ही Data Position को Handle करती है। System को यह जानकारी नहीं होती है की File Start कहाँ से हो रही है और End कहाँ पर हो रही है।

Conclusion

तो दोस्तों यह थी Linux Ki Jankari जो आज आपको यहाँ जानने को मिली जिसमें आपने लिनक्स के बारे में Full Information जानी जैसे…

  • Linux क्या है और Linux का इतिहास क्या है।
  • Linux के Features क्या है और इसके फायदे क्या होते है।
  • Linux Basic Commands और Linux File System क्या है।
  • Linux कितने प्रकार के होते है साथ ही Linux Kernel क्या है यह भी आपने जाना।

तो कैसी लगी दोस्तों आपको यह Post Comment में ज़रुर बताए और इस पर आपके कोई सुझाव है तो वो भी बताए।

इस Post को अपने दोस्तों के साथ भी ज़रुर Share करे जिसके लिए आप Social Media Platform का इस्तेमाल कर सकते है जैसे- Facebook, Whatsapp, Instagram आदि जो भी Social Platform आप Use करते है।

Thank You.

Leave a Reply