COVID-19: बच्चों को लॉक डाउन के दौरान घर पर चिड़चिड़ा होने से बचाएं

स्वास्थ्य टिप्स


21 दिन के लिए पूरा देश लॉकडाउन है, संक्रमण से खुद को और दूसरों को बचाने के लिए सभी अपने-अपने घरों में हैं। क्वारंटाइन की इस स्थिति में बच्चों को संभालना एक चुनौती है क्योंकि वे घर में बोर होने लगते हैं पर उन्हें पार्क में घुमाने भी नहीं ले जाया जा सकता। बच्चों पर काम करने वाले कई संस्थाओं ने अभिभावकों के लिए विशेष निर्देश जारी किए हैं।

हॉलीडे मूड में न रहें
फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार, क्वारंटाइन के समय सुबह की दिनचर्या आम दिनों की तरह रखना जरूरी है। तय समय पर उठे, नहाएं, बच्चों को तैयार करें और नाश्ता दें। इससे बच्चों को सामान्य लगेगा और उनके मन में मनोवैज्ञानिक असर कम होगा। दिनभर के खाने का समय भी नियत रखें ताकि बच्चों की सेहत पर असर न पड़े।

पॉजिटिव नजरिया: यह समय बच्चों के सामने बहुत सावधान व सकारात्मकता भरा व्यवहार करने का है।

बच्चे अपने व्यवहार पर सतर्क रहें बच्चों संग बैठकर कार्टून चैनल भी देंखे। आप जितने पॉजिटिव होंगे, बच्चे भी उतनी ही सकारात्मकता से यह समय बिताएंगे। कोरेाना वायरस से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब बहुत सतर्कता से जवाब दें।

यह भी पढ़ें- Covid-19: बच्चों को इस तरह बचाएं वायरस के खतरे से

COVID- 19 : वर्क फ्रॉम होम को ऐसे आसान और रोचक बनाएं

टीचर-दोस्त से बात कराएं
बच्चे अपने शिक्षकों से आत्मीय तौर पर जुड़े होते हैं इसलिए उनसे बात कराएं। बच्चों के दोस्तों के पेरेंट्स को कॉल करें, एक समय तय करें जब बच्चों की एक दूसरे से बात करायी जाए।

दिनचर्या तय करें –
‘हार्वर्ड बिजनेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चों के साथ बैठकर उनकी सहमति से पढ़ाई का एक टाइम टेबिल बनाएं और पालन कराएं। उनके लिए ब्रेक भी होना चाहिए। टाइमटेबिल ऐसा हो कि अगर आप घर से काम कर रहे हैं तो आपका काम भी बाधित न हो और बच्चों को भी पूरा समय मिले। उनकी पढ़ाई को रचनात्मक बनाने के लिए ऑनलाइन क्लास का सहारा ले।

बच्चों को ध्यान से सुनें-
हमउम्र संग घूमन वाले बच्चे आजकल घर में हैं, ये समय उनके लिए बहुत नया और असामान्य होगा। उनके मन में कई तरह के सवाल आएंगे इसलिए जरूरी है कि उनकी हर बात को ध्यान से सुना जाए और हर बात का जवाब दिया जाए। मांओं को बच्चे ज्यादा परेशान करते हैं, पर इस वक्त झिड़कने की गलती न करें। उनके सामने ज्यादा खबरें न पढ़ें, टीवी देखने का समय भी तय कर लें

पढ़ाई के लिए एप का इस्तेमाल करें
सरकार ने बच्चों की पढ़ाई के लिए कई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराएं हैं जैसे दीक्षा एप, स्वयंप्रभा, निष्ठा एप, स्वयं और ई पाठशाला वगैरह। यहां बड़े ही रोचक अंदाज में पाठ्य सामग्री उपलब्ध है। सब निशुल्क हैं।

.

Leave a Reply